Thursday , November 26 2020

2 ਸਾਲ ਦੀ ਉਮਰ ਵਿੱਚ ਬੁਰੀ ਤਾ ਜਲੀ. ਸਭ ਦੇ ਤਾਹਨੇ ਸੁਣੇ ਅਤੇ ਜਾਣ ਲੈਣ ਦੀ ਕੋਸ਼ਿਸ ਕੀਤੀ . ਪਿਆਰ ਨੇ ਬਦਲ ਤੀ ਜ਼ਿੰਦਗੀ

कुछ घाव वक़्त के साथ भर जाते हैं, तो कुछ किसी के प्यार के स्पर्श से ही. ये कहानी है Solara Jaafar की. लेबनान की Solara जब 2 साल की थी तब उसके घर में एक हादसा हुआ, जिसमें उसके 9 महीने के भाई की मौत हो गई और Solara 70 प्रतिशत जल गई. Solara 6 महीने कोमा में रही.

Solara की ज़िन्दगी तो बच गई, लेकिन जान बच जाना एक बात होती है ज़िन्दगी जीना एक और बात होती. Solara की आगे की ज़िन्दगी इतनी मुश्किलों भरी होगी इसके बारे में कोई अंदाज़ा भी नहीं लगा सकता.

जहां सारे बच्चे ‘क्यूट’ कहे जाते, वहीं Solara को Monster या राक्षस कहा जाता, उसके चेहरे के कारण.

Solara ने दुर्घटना के दिन को याद करते हुए बताया,
ये 26 दिसंबर 1997 की घटना है. मेरे माता-पिता अपनी एनिवर्सिरी मना रहे थे. तभी घर में विस्फ़ोट हुआ. घर में केरोसीन रखा था, किसी ने उसमें आग लगा दी और पूरे घर में लग गई.

Solara बच गई, लेकिन उसके अंदर ग्लानि थी. अपने भाई को याद करके वो अकसर सोचती हैं कि अगर उसका भाई आज ज़िन्दा होता तो क्या आज वो डॉक्टर बन गया होता?ने बताया,

मुझे अफ़सोस होता है कि मैं ज़िन्दा हूं. मुझे पता नहीं था कि आखिर उसे क्या हुआ. मेरे माता-पिता ने मेरे बड़े होने के बाद मुझे बताया कि मेरे पास से जब भी कोई छोटा बच्चा जाता, तो मुझे लगता कि वो मेरा भाई है और मैं रोने लगती और सबसे पूछने लगती कि मेरा भाई कहां है?

लेबनान में Solara से सब बहुत प्यार से पेश आते लेकिन जब Solara का परिवार अमेरिका गया, तो उसके लिए असल परेशानियां शुरू हुईं. वहां उसे Bully किया जाता. Solara ने 4 बार अपनी जान लेने की कोशिश की.

Solara ने बताया, जब मैं 5 या 6 साल की थी, तब हम अमेरिका शिफ़्ट हुए. मेरी ज़िन्दगी की मुश्किलों की शुरुआत हो गई, क्योंकि यहां बच्चे मुझे Bully करते. बच्चे तो बच्चे, बड़े भी मुझसे पूछते कि क्या मुझे जो बीमारी है वो छूने से फैलती है?’ ‘कोई मुझसे हाथ तक मिलाना नहीं चाहता था, वो मुझे Monster बुलाते. मैं Wig पहनती थी, वो लोग उसे खींचकर भाग जाते. मैं बाथरूम में लंच करती. मैं घर आती और खुद को ब्लेड से काट लेती, मैंने अपनी जान लेने की भी कोशिश की.

Solara के साथ होने वाली Bullying इतनी ज़्यादा बढ़ गई थी कि उनकी जीने की इच्छा ही ख़त्म हो गई थी.

Solara ने हार स्वीकार नहीं की और ज़िन्दगी को नए सिरे से जीने का तरीका ढूंढा. रोज़ वो आइने में देखती और ख़ुद से कहती कि वो कितनी ख़ूबसूरत हैं.

Solara ने बताया, हाई स्कूल के बाद रोज़ के इस छोटे से मंत्र से मुझ में आत्मविश्वास जागने लगा. मैं आईने में देखकर ये भी कहती की तुम Strong हो. तुम सर्वाइवर हो. तुम बहादुर हो और तुम सारी लड़ाईयां जीत लोगी.

एक लंबे अरसे तक ख़ुद से प्यार नहीं करती थी. लेकिन उनके परिवारवालों और दोस्तों के प्यार ने उन्हें अपने अंदर प्यार ढूंढने में मदद की.

Solara ने 2013 में बेटे को जन्म दिया. उसके बेटे के पिता के साथ उनका रिश्ता टूट गया. लेकिन फिर उनकी ज़िन्दगी में आया, Gabriel.

ख़ुद पर इतना कुछ बीतने के बाद अपने पति, Gabriel के सपोर्ट के साथ अब Solara ने अपने दाग़ों को Accept कर लिया है. Solara ने बताया,

जब मैं एक Teenager थी, तो मैं अपने दाग छिपाती थी. मेरे सारे दोस्त डेट पर जाते और मैं प्यार ढूंढने में नाक़ामयाब थी.

Solara ने Gabriel के बारे में बताया,

मैं उससे एक Rave Party में मिली थी, जब मैंने उसे दुर्घटना के बारे में बताया तो उसकी आंखों में आंसू थे.

Solara ख़ुद को ख़ुशक़िस्मत मानती हैं कि उन्होंने अपनी ज़िन्दगी ख़त्म नहीं की. अब उन्हें अपनी ज़िन्दगी का मक़सद भी मिल गया है, अपने जैसे दूसरे Burn Survivors की ज़िन्दगी में बदलाव लाना