Friday , December 4 2020

ਕਾਮਵਾਸਨਾ ਜਗਾਣ ਲਈ ਇਸ ਇੱਕ ਚੀਜ ਦਾ ਸੇਵਨ ਕਰਦੇ ਸਨ ਰਾਜਾ – ਮਹਾਰਾਜਾ ,  ਜਿਸਦੇ ਬਾਅਦ ਇੱਕ ਰਾਜਾ..

ਕਾਮਵਾਸਨਾ ਜਗਾਣ ਲਈ ਇਸ ਇੱਕ ਚੀਜ ਦਾ ਸੇਵਨ ਕਰਦੇ ਸਨ ਰਾਜਾ – ਮਹਾਰਾਜਾ ,  ਜਿਸਦੇ ਬਾਅਦ ਇੱਕ ਰਾਜਾ

प्रकृति ने व्यक्ति की रचना करने से पहले व्यक्ति के रख-रखाव और उसके द्वारा काम में लाई जाने वाली बहुत सी चीजों की रचना भी की थी. आपने बहुत बार अपने घर के बड़े-बूढों को कहते हुए सुना होगा कि इस दुनिया में मौजूद चीजों में से कोई भी चीज बेकार नहीं होती. आपको जो चीज बेकार लगती है वो किसी दूसरे के लिए औषधि साबित होकर उसकी जान भी बचा सकती है. पहले के समय में जब लोगों के पास इलाज करवाने के लिए पैसे नहीं होते थे तब लोग औषधियों का इस्तेमाल करके ही अपना इलाज करते थे.

आज हम आपको ऐसी ही एक छोटी सी औषधि के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका अगर आप रोज सेवन करते हैं तो आपको शारीरिक कमजोरी से निजात मिल सकती है. मनुष्य के जीवन में कामों के आलावा शारीरिक संबंध बनाने को भी बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण बताया गया है. आपने कभी ना कभी ये बात तो जरुर पढ़ी ही होगी कि अगर पति और पत्नी के बीच कामेच्छा की तृप्ति ना हो पाए तो उनके रिश्ते में कड़वाहट आने लग जाती हैं.

 

ऐसा बहुत बार देखा गया है कि भागदौड़ और काम की वजह से तनाव होने के कारण बहुत से पुरुषों की मर्दाना ताकत कम होने लगती है, जिसकी वजह से वो अपनी पत्नी से ठीक से शारीरिक संबंध नहीं बना पाते. आज हम आपको एक ऐसी छोटी से औषधि के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका सेवन करके पहले के समय के राजा-महाराजा बहुत सी रानियों और महिलाओं से शारीरिक संबंध बनाते थे.

 

हम जिस आयुर्वेदिक औषधि की बात कर रहे हैं वो है सफेद मुसली की जड़. आपकी जानकारी के आपको बता दें कि सफेद मुसली ना सिर्फ मर्दाना ताकत बढ़ाती है बल्कि इसके और भी बहुत से फायदे होते हैं. इस जड़ का इस्तेमाल शादीशुदा लोग या गुप्त रोग वाले पुरुष करते हैं.

सफेद मुसली के बारे में कहा जाता है कि इसका सेवन करने से मनुष्य का प्रतिरक्षा तंत्र ठीक रहता है. इसका सेवन करने से ना सिर्फ बाहरी कमजोरी कम होती हैं, बल्कि शरीर के अंदर की कमजोरी भी खत्म होती है.

अगर कोई व्यक्ति सफेद मुसली का रोज सेवन करता है तो उसको खुद ही धीरे-धीरे करके शक्ति का एहसास होने लगता है इसलिए पहले के समय के राजा शारीरिक क्षमता को बढ़ाने के लिए सफेद मुसली का उपयोग करते थे.